इन मस्तो की बस्ती में आता है कोई कोई ( In Masto ki Basti Me Ata hai Koi -Koi Lyrics )

इन मस्तो की बस्ती में आता है कोई कोई (In  Masto ki Basti Me Ata hai Koi -Koi )

Song Credit : 

#Rajan ji Maharaj #Prembhushan ji Maharaj

 इन मस्तो की बस्ती में आता है कोई कोई ,

रोती है साडी दुनिया हसाता है कोई को। 

इन मस्तो की बस्ती में.........


सामान और सम्मान तो सब लोग चाहते है ,

फटकार प्यार से यहा आता  है कोई कोई। 

इन मस्तो की बस्ती में.........


निज तन  की की मैल मल-मल सब लोग छुड़ाते है, 

पर मन की मैल मन से ,छुड़ाता है कोई को।  

इन मस्तो की बस्ती में.........


धन पाके धनी दुनिया के लोग कहाते है,

पर शहंशाह भिक्षु कहाता है कोई कोई। 

इन मस्तो की बस्ती में.........


इन मस्तो की बस्ती में आता है कोई कोई ,

रोती है साडी दुनिया हसाता है कोई को। 

Previous
Next Post »